Tandav: ‘Entertainment के लिए कई बार liberty ले ली जाती है’, नासिर अब्दुल्ला की बात पर एंकर के साथ हो गई तू-तू-मैं-मैं

0
17
tandav-controversy

नासिर अब्दुल्ला शो के दौरान एंकरको बीच में टोकते ही रहे इसपर एंकर ने जवाब दिया कि ‘आपको प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए बुलाया है क्या यहां पर?

tandav, entertainment
अभिनेता और एंकर के बीच जमकर तू-तू-मैं-मैं हुई।

वेब सीरीज ‘Tandav’ को लेकर घमासान मचा हुआ है। ‘आज तक’ पर एक डिबेट शो के दौरान अभिनेता नासिर अब्दुल्ला ने कहा कि ‘Entertainment के लिए कई बार liberty ले ली जाती है, जानबूझ कर हिंदू धर्म का अपमान नहीं किया गया है।’ उनकी इस बात पर एंकर रोहित सरदाना ने सवाल उठाया तो एंकर औऱ नासिर अब्दुल्ला के बीच जमकर तू-तू-मैं-मैं शुरू हो गई।

नासिर अब्दुल्ला की बात सुनने के बाद रोहित सरदाना ने कहा कि ‘अगर आप मनोरंजन के लिए करते हैं तो फिर उसके साथ liberty लेने की बात कहां से आ जाती है।’ इसपर नासिर अब्दुल्ला ने कहा कि ‘नहीं, आपका हक नहीं बनता आप एंकर हैं, तो इसका क्या मतलब है कि एंकर हैं तो आपसे सवाल ना पूछें। अरे आपसे सवाल तो पूछेंगे।’

नासिर अब्दुल्ला शो के दौरान एंकरको बीच में टोकते ही रहे इसपर एंकर ने जवाब दिया कि ‘आपको प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए बुलाया है क्या यहां पर? आप लोग कुछ भी बनाए उसके बाद देश में दंगा हो जाए, तो आप कहेंगे कि हमसे सवाल मत पूछो क्योंकि हम लिबर्टी ले लेते हैं। आप एक तरफ कहे कि नेताओं के ऊपर मजाक बना सकते हैं। भगवान को नेताओं से तौल देंगे क्या। आप लाख-करोड़ों लोगों की आस्था को नेताओं से तौल देंगे क्या…उसके बाद आप कह दें कि मनोरंजन में लिबर्टी ले सकते हैं।’

ऐक्टर सैफ अली खान, डिंपल कपाड़िया, सुनील ग्रोवर, तिग्मांशु धूलिया जैसे दिग्गज कलाकारों की चर्चित वेब सीरीज ‘तांडव’ रिलीज होते ही विवादों में घिर गई है। मामला ने इतना तूल पकड़ा कि अब सरकार को भी दखल देना पड़ा है। यह सीरीज स्ट्रीमिंग प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो पर रिलीज हुई है। ऐसे में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने तमाम शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए ऐमजॉन प्राइम से इस पर जवाब मांगा है। इस विवाद के बाद वेब सीरीज ‘तांडव’ के निर्माताओं ने मंगलवार को कहा कि उन्होंने इस पर उठे विवाद के बाद लोगों की चिंताओं को दूर करने के लिए बदलाव करने का फैसला किया है।

इस शो की टीम ने एक आधिकारिक वक्तव्य में दोहराया कि उनका किसी की भावनाओं को आहत करने का कोई इरादा नहीं था। बयान में कहा गया, ‘‘हम देशवासियों की भावनाओं का बहुत सम्मान करते हैं। हमारी किसी व्यक्ति, जाति, समुदाय की धार्मिक भावनाओं या धार्मिक आस्थाओं को आहत करने या किसी संस्था, राजनीतिक दल या व्यक्ति (जीवित अथवा मृत) को अपमानित करने का कोई इरादा नहीं था।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

<!–

–>

Leave a reply

Please enter your comment!
Please enter your name here